सोशल मीडिया पर सरकार का नियंत्रण आवश्यक I

Standard
सोशल मीडिया पर सरकार का नियंत्रण आवश्यक I

आजकल सोशल मीडिया (फेसबुक वाट्सप) पर अत्यंत वीभत्स व रौंगटे खडे करने वाले विडीयो आए दिन देखने को मिल रहे है। यह विडीयो किसी भी व्यक्ति को विचलित कर सकते है। कमजोर दिल वाले तो देख ही नही सकते। जैसे-१-एक आदमी दूसरे आदमी को दिन-दहाडे मारता है, उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा देता है। २-एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के जिसके हाथ बंधे हुए है उसके बाल पकड़ कर उसका गला खंजर से रेंतकर सर को धड़ से अलग करके के फेंक देता है। ३-चार लोग मिलकर एक जिंदा आदमी का सीना चीर कर उसका दिल निकाल फेंकता है। इसी तरह कुछ लोगो ने मूक जानवरो को भी नही छोड़ा उनके साथ भी अत्यंत दरिंदगी वाली हरकते की है। जैसे- जिंदा कुत्ते के बच्चे को रस्सी से बांध कर आग में जलाना,गायों को काटते हुएं दिखाना,बंदरो को पेड़ से बंाधकर उसे छड़ी व चप्पलों से मारना,और भी इस तरह की घटनाएं जो कि सामान्यत:बच्चो,किशोर किसी को भी विचलित कर सकता है। यहां तक बलात्कार,छेड़छाड़ व बुर्जुगों, बच्चों के साथ दुवर््यवहार व मारपीट के विडियों भी सोशल मीडिया के गु्रप में आम होते जा रहे है। साथ ही अश्लील फोटोज़ व विडियों भी खूब फैल रहे है।
इसी तरह सोशल मीडिया में जातिवाद व र्धािर्मकता को भी गलत तरीके से प्रसारित किया जाता है। अगर आप फलां जाति व धर्म के सच्चे अनुयायी है तो इस पोस्ट को आप शेयर करेगे,तो आपकी मनोकामना पुरी हो जाएंगी। कमेंट करेगे तो आप को कोई अच्छी खबर सुनने को मिलेगी। अगर नही किया तो आप के साथ कुछ बुरा हो जाएगा। इस तरह वह पोस्ट शेयर होती जाती है। अपनी-अपनी जाति व धर्म को श्रेष्ट बताना व अन्य जाति धर्म को निम्र बताना व उसका उपहास करना। यह भी सोशल मीडिया पर होता रहता है।
इसी तरह राजनीतिक क्षेत्र में भी चुनाव के समय एक दूसरे पर खूब कीचड़ उछाला जाता है। किसी भी राजनेता का अपमान खुले तौर पर किया जाता है। फिर राजनेता कितना भी बुजुर्ग क्यों न हो। न उसकी उम्र का न प्रतिष्ठा का भान किये बिना सोशल मीडिया पर अत्यधिक प्रसार किया जाता है। साथ ही नेताओं के बंद कमरे के विडियो भी वायरल हो जाते है। चुनाव के समय ही नेताओं द्वारा बलात्कार के विडियों भी वायरल कर दिये जाते है। कई विडियो तो नकली साबित होते है। लेकिन सोशल मीडिया के लोग इन आक्षेप को सच मान लेती है।
सोशल मीडिया ने व्यक्तिगत कार्यक्रम को आम बना दिया है। आज घर के कोई भी कार्यक्रम व्यक्तिगत नही रहा है। हमारी मां बहने अगर घर में डांस कर रही है। कोई भी वहां बैठा व्यक्ति उस डांस को सोशल मीडिया पर डाल देता है। फिर वह शेयर होता रहता है। साथ ही फूहड़ कमेंट भी पास होते रहते है। फिर चाहे उस डांस करने वाली महिला को तो पता ही नही होता है कि वह सोशल मीडिया पर इतनी फेमस हो गई है। कई बार यह हरकत किसी बडे अपराध को जन्म दे देती है।
इस तरह के विडियों या फोटोज़ अपराध को बढ़ावा देते है।
सोशल मीडिया पर इस तरह के विडियो क्यों डाले जाते है? इस तरह के विडियो सोशल मीडिया पर डालने का क्या मकसद होता है? कुछ लोग क्यो समाज में अराजकता फैलाना चाहते है? हमारे समाज के कुछ संकीर्ण मानसिकता वाले लोगो ने सोशल मीडिया के द्वारा समाज में बुराई फैलाना अपना कार्य समझते है। इस तरह के लोगो को लगता है कि इस तरह हम समाज में एकता ला सकेगे। किसी एक कौम का बना देगे किंतु यह सोच गलत है। भारत एक गुलदस्ते की तरह है जिसमें कई तरह के फूल है।
हर सिक्के के दो पहलू होते है। एक अच्छा और एक बुरा। ऐसा नही है कि सोशल मीडिया पर गलत व भडक़ाऊ विचार ही शेयर होते है। सोशल मीडिया पर अच्छे विचार और विडियोंज भी शेयर होते है। कई प्रेरणादायक कहानी व विचार भी शेयर होते है। लोगो को इनसे प्रेरणा भी मिलती है। सोशल मीडिया बहुत अच्छा साधन है। अपने विचारो को सभी तक पहुचाने का।
सायबर क्राइम को रोकने हेतु कुछ प्रयास किये जाएं तो कुछ हद तक यह अपराध कम हो सकते है। कोई भी विडियों या फोटो अपलोड करते समय कुछ सवाल सायबर साइड को पूछना चाहिए। जैसे-विडियों या फोटोज़ अश्लील या आपत्ति जनक तो नही है। अत्यधिक हिंसा व खून-खरावे वाले विडियो को बिलकुल भी शेयर न होने दे। फेसबुक या दूसरे साइटस को बनाने के लिए आधार कार्ड से लिंक करना चाहिए ताकि फेक आइ डी न बन सके। अगर हमें एक अच्छे समाज का निर्माण करना है तो हमें स्वंय को जागरूक होना होगा ताकी इस तरह की कोई भी पोस्ट शेयर न करे। सरकार को भी इन साइट्स पर भी अपना नियंत्रण रखना होगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s