अच्छा ड्रेसअप भी एक कला है

Standard
अच्छा ड्रेसअप भी एक कला है

आजकल महिला, पुरूष, बच्चे,जवान,वृद्ध सभी अपने आप को सुंदर,खूबसूरत व फैशनेबल बनाने में लगा हुआ है। वैसे तो भगवान ने सभी को सुंदर व खूबसूरत बनाया है। किंतु फिर भी लोग अपनी सुंदरता बढाने के लिए कुछ-कुछ सौंदर्य कलाएं करते रहते
है। पूर्ण रुप से सुंदर दिखने के लिए कपडो का भी उतना ही महत्व होता है जितना की मेकअप(रूप सज्जा) का। यदि हम बहुत सुंदर मेकअप कर ले किंतु हमारा ड्रेसअप अच्छा नही है तो हम अच्छे नही लगेगे। कहने का तात्पर्य यह है कि सही तरीके से कपडे पहनना भी एक कला है।
कहते है फस्र्ट इम्प्रेशन इज द लास्ट इम्प्रेशन। पहली नजर में आप कैसे दिखाई देते है? यह आप के परिधान पर निर्भर होता है। जैसे-आप बहुत अमीर व होशियार है किंतु आपके परिधान व्यवस्थित नही है तो आपको कोइ देखेगा भी नही क्योकि आप आकर्षक नही लग रहे है। इसके विपरित आप गरीब है किंतु आपका परिधान सुव्यवस्थित व उचित है तो आप आकर्षक लगेगे। उचित परिधान से ही व्यक्ति का व्यक्तित्व निखरता है।
भीड़ से अलग व फैशनेबल दिखने की चाहत में कई बार लोग अत्यधिक छोटे व टाईट कपडे पहन लेते है। जिससे पूरे कार्यक्रम में वे असहज महसुस करते है या अपनेे कपडे ही सही करते रहते है। इसी तरह बेडौल शरीर वाले युवक-युवतियां ऐसे परिधान पहन लेते है जिससे वह आकर्षक नही लगते बल्कि अनाकृषक व हास्यास्पद दिखने लगते है। हमे अपने उम्र के अनुसार कपड़ो का चयन करना चाहिए। जाने-अनजाने में कई बार हमारी मर्यादा व शालीनता भी दांव पर लग जाती है।
कपड़े पहनना अपने आप में एक अलग बात है। सही परिधानो का चयन करके पहनना यानी अपने लिए एक नया चेहरा तलाशना और उसे अपनाना। यह पूणर्त:व्यक्तिगत कला है। आधुनिक व फैशनेबल दौर में अपने व्यक्ति त्व के अनुसार परिधानो का चयन करना भी एक कला है।
हम जो परिधान पहनते है,वे दर्शातेे है कि हम कौन है? क्या करते है? हमारी योग्यता क्या है? हम अपने आप को किस तरह प्रदशर््िात करना चाहते है? हमारे परिधान ऐेसे होने चाहिए जो हमारी छवि को अंकित करे। कपड़ो का आकर्षक होने के साथ-साथ आराम दायक भी होना आवश्यक है। आराम दायक के साथ ही आकार भी बहुत जरूरी है। कपड़ो का सही आकार हमारी शारीरिक बनावट को पूर्णत: उभारते है व शारीरिक सुंदरता बढ़ाते है। उचित तरीके से परिधान धारण करने वाला व्यक्ति कभी भी अनाकृषक नही लगता है।
उचित परिधान के साथ खूबसूरत दिखना भी आवश्यक है। आपको अंदर से सुंदर महसूस होना चाहिए उसके लिए आत्मविश्वास होना जरूरी है। आत्मविश्वास हमारे व्यक्तित्व और सुंदरता को बढ़ाता है। खूबसूरत दिखना और उचित व शैली और भी कई बिंदुओं पर निर्भर करता है। जैसे आपके कार्य करने की जगह,आपकी उम्र,स्थिति आदि को ध्यान में रखना जरूरी है।
हमे परिधान वही धारण करना चाहिए जिसमे हम खुद को सहज व आरामदायक महसूस कर सके। आप फैशन के अनुसार भी परिधान धारण करे किंतु अपने व्यक्तित्व व छवि के अनुसार पहने।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s